सरसों

®® सरसों ®®
छोड़ हरियाली का दामन
सरसों होती ताम्र वर्ण
तज पीतवर्ण जवाला
फलियों में भर आई श्याम वर्णमाला
रंग बदलता देख अनुपम
हर्षित होता कृषक संग विहंग
आंगन में फैली खुशहाली
भरने वाली हैं
कृषक की खाली झोली
छोड़ हरियाली का दामन
सरसों होती ताम्र वर्ण
® रविन्द्र पुनियां की कलम से…®

         

Share: