खुशियों की सेल्फि

सुनो,आज करते हम घोषित
सेल्फि अपनी, खुशी से पोषित।
हम भी खुश हो सकते हैं जी
दुखों को कर देंगे, हम शोषित।

आओ चलो सब पोज़ बना लें
कोई हँसे, कोई पाउट बना लें।
उड़ा ग़मों को बना कर बादल,
मिल जुल कर चल खुशी मनालें।

नहीं आई फोन, नहीं है एप्पल
अपने पास तो भैया है चप्पल
पहनें,पीटें, सेल्फी फोटो खींचें
काम करे बबुआ यह ट्रिप्पल।
नीलम शर्मा ✍️

         

Share: