स्त्री की कामना

अल्हड़ दिखती नव युवती, करे सोम उपवास।
शिव शंकर से पति मिले, रहे कहाँ तब सास ।।

रहे कहाँ तब सास , ननद की करे कामना ।
सोच भरे ये आस ,देगी कौन उलाहना ।

खेले कैसे रास , मौन रहे ये कामना ।
मिलेगा सद विश्वास ,नवीनता अल्हड़ दिखती ।।
नवीन कुमार तिवारी,,

         

Share: