नज़र से नज़र तुम मिला कर के जाते

गले से मुझे तुम लगा कर के जाते।।
नज़र से नज़र तुम मिला कर के जाते।।

मुझे बेवफ़ा कह के ओ जाने वाले
वफ़ा क्या है मुझ को बता कर के जाते।।

जो वादे किय थे मुहब्बत में तुम ने।
वो वादे सभी तुम निभा कर के जाते।।

अगर छोड़ कर मुझ को जाना ही था तो
मुहब्बत का हक भी अदा कर के जाते।।

मेरे दिल को ठोकर लगाने से पहले।
मेरी मौत की तुम दुआ कर के जाते।।

मुहब्बत में हम भी तड़पते न ऐसे
अगर जह्र थोड़ी पिला कर के जाते।।
©अंशु कुमारी

         

Share: