जीवन साथी

*जीवन साथी*
अनबोले हमराही , बनते जीवन साथी !
उर ताल मिल जाते , सात जन्म रहिये !!

मीन मेख निकालते , मधु प्रिय बन जाते !
एक संग रह जाते , सात जन्म कहिये !

जन्म जन्मान्तर खेल , धरती पर है मेल !
नव पुष्प लता बेल , सात जन्म सहिये !!

तन मन धन लाया , ये किसकी बनी माया !
बाँध जाती मोह छाया , सात जन्म चलिए !!
*नवीन कुमार तिवारी ,अथर्व*

         

Share: