देश ये महान

रहें मिल एक जान हिन्दू सिख मुसलमान,
राम व रहीम वाला देश ये महान है|
लक्खा माँ के गीत गावे मुन्शी ने अजान पढ़ी,
‘मनुज’सवैया गाये यहाँ रसखान है |
सैकड़ों जुबान यहाँ कई हैं पुराण यहाँ,
अनेकता में एकता प्रेम की ये खान है|
शतत् नमन कवि खूब खींची ऐसी छवि,
लागे तस्वीर मेरा प्यारा राष्ट्रगान है|

         

Share: