जन जागरण-11

फिर डर का माहौल है,फिर है घोर तनाव।
फिर दंगों का दौर है,फिर आ रहा चुनाव।।

–––––––  –    भरत दीप

         

Share: