जन जागरण-4

बेटी को मत आंकिये,कमतर या कमज़ोर।
अवसर इनको दीजिए,चमकेंगी चहुँ ओर।।
भरत दीप

         

Share: