जन जागरण-5

पन्नी में मत फेंकिए , खाने का सामान।
जिसको खाकर जानवर,हो जाते बेजान।।
भरत दीप

         

Share: