झूठी दुनिया है मगर ,सच पे करो विचार|

झूठी दुनिया है मगर ,सच पे करो विचार|
होना है जो आप को, भव सागर से पार|।
©अंशु कुमारी

         

Share: