सबका मालिक एक

रूप धर्म भाषा चलन,जग में कितने वेश।
सबका मालिक एक है,यति साईं संदेश।।

         

Share: