दुर्गा सुमिरन

कर पूजा मेरी स्वीकार,हे माता शेरोवाली
बड़ी दूर से आया हूँ,सँग लाल चुनरिया लाया हूँ,
करने तेरा श्रृंगार लेकर फूलों का गलहार, तेरे द्वार पे आया हूँ,
हे माता शेरोवाली
कर पूजा मेरी स्वीकार,हे….l

सर्वमंगला शक्ति भंडार तुम हो,
सकल सृष्टि आधार तुम हो
सदा दुष्टों का करती संहार,
कर पूजा मेरी स्वीकार,
हे माता शेरोवाली,हे…l

कहलाती हो तुम जगमाता,
बिन मांगे सबकी झोली भरती माता
हरती है पल में सब बाधा,
वेद-पुरान भी तेरी महिमा गाते हैं
ब्रह्म,विष्णु सदा शिव भी तुझे ध्याते हैं,
कर पूजा मेरी स्वीकार,हे…l

देख के द्वार पे तेरी भक्तों की भीड़,
रखकर दिल में तेरी तस्वीर
करते तेरा गुणगान आया हूँ,
हे माता शेरोवाली
कर पूजा मेरी स्वीकार,
हे माता शेरोवाली,हे…ll

         

Share: