इच्छाशक्ति

“नदी जब किनारा छोड़ देती हैं;
राह की चट्टान तक तोड़ देती हैं;
बात अगर चुभ जाती है दिल में;
ज़िंदगी के रास्तों को मोड़ देती हैं!”

         

Share: