“यार मेरे”…

°°°
सुन लो ज़रा दिल की बात , कुछ कहना है यार मेरे ,
आखिरी साँस तक तेरे संग रहना है यार मेरे ।
यक़ीनन मिलेंगे इस ज़िंदगी में कुछ खुशी और कुछ ग़म ,
मगर हमेशा मुस्कान लेकर बहना है यार मेरे ।।
.
अहसास जब एक हो जाए तो प्यार है यार मेरे ,
समझो इक-दूजे को , हर दिन त्यौहार है यार मेरे ।
अगर ख़ुदा की रहमत हो तो ही हासिल होता सब कुछ ,
वरना सच्चे यार का कठिन क़िरदार है यार मेरे ।।
.
तेरे बिना सूना-सूना हर मंज़र है यार मेरे ,
जो तू नहीं , ज़िंदगी का अधूरा सफ़र है यार मेरे ।
इक खुशी की तलाश है , बीच में मत छोड़ जाना कभी ,
फ़ख़्र होगा ज़माने से अलग हमसफ़र है यार मेरे ।।
.
कभी-कभी तेरा रूठना भी क़बूल है यार मेरे ,
मगर तेरे बग़ैर ये ज़िंदगी बबूल है यार मेरे ।
कोई अस्तित्व नहीं है ज़हान में “कृष्णा” का सच में ,
ये बंदा बस तेरे चरणों का धूल है यार मेरे ।।
°°°
— °•K.S. PATEL•°
( 08/08/2018 )

         

Share: