नव भारत (मुक्तक)

#मुक्तक

1222 1222 1222 1222

बयाँ होने लगी लब से दबी जो बात दिल में है

सभी बीतें समय की सच अभी सौगात दिल में है

समय आया यहाँ पर अब नया इतिहास लिखने का-

गढ़े भारत नया फिर से यही जज़्बात दिल में है

#प्रियंका_सिंह

         

Share: