मैं भारत माँ का लाल हूँ !

मैं भारत माँ का लाल हूँ ,
दुशमन का मैं काल हूँ !
लड़ते कुछ धर्म जाति पे,
उनसे पूछता सवाल हूँ !
अतुलनीय भारत पे मैं ,
ह्रदय से यूं निहाल हूँ !
रहे खुशहाल मेरा भारत,
इसका मैं रक्षक गोपाल हूँ !
सरहद पे सैनिक लड़ते,
देखता उनका कमाल हूँ !
हर और खुशहाली रहे ,
उड़ाता मैं गुलाल हूँ !
देश मेरा स्वाभिमान,
देता सबको मिसाल हूँ !
कामनी गुप्ता ***
जम्मू !

         

Share: