स्वच्छता मिशन और,,

स्वच्छता मिशन और?
अरे आज सारा कचरा कहाँ गया, सोचते,विचरते रमौतीन सुने सड़क पर चली जा रही ।
रोज कचरे से पटा सड़क आज चकाचक ?
अचानक लावूड स्पीकर पर तेज आवाज में देशभक्ति फ़िल्मी गीत ने विचरमग्नता को नया रूप प्रदान किया ।
आवाज गांधी पुतले के पास चूना से घेर कर कचरे रखे ढेर के पास पंडाल से आ रही ।
*अरे यहां कैसे इतना कचरा?*
रोज तो यहां कचरा रहता ही नहीं।
चलो मै इसे साफ कर उठा लूं इसी सोच से आगे बढ़ रमौतीन ने झाड़ू जमीन में फिराया कि,,,,,,,,,
एक रौबदार कड़क आवाज ने ,,,,,
उसे झकजोर दिया,,,
*अरे* ये क्या कर रही,,,
*चल भाग यहाँ से*
अभी मंत्री जी आकर यहाँ झाड़ू लगाएंगे और तू ?
नवीन कुमार तिवारी,,,,,,,

         

Share: