किसलिए

क्या हुआ आज ये बेकली किसलिए ,
मेरी दुश्मन बनी सादगी किसलिए ,
लत लगी तेरी यादों की कैसे मुझे –
मैं भी करने लगी बंदगी किसलिए ..मधु

         

Share: