दिल की धड़कन

ज़ुबां खामोश नीलम,💖धड़कन बात कहती है।
अदा भरकर निगाहों में, नज़र जज़्बात कहती है।
सुनो, डूबी मेरी चाहत, तेरी मुहब्बत के समंदर में,
किनारा सामने लेकिन,नैया बीच मझधार बहती है।
नीलम शर्मा ✍️

         

Share: