मासूमियत चेहरे की

मासूमियत चेहरे की देख फरेबी कहता कौन..

बड़े दिल वालों के दिल में अकेले रहता कौन..

ज़रा ज़रा सी बात पर जो छोड़ जाने को तैयार

दूर मंजिल तक साथ सफर में चलता कौन..

“आकर्षण” जिस्म का सीमित है नज़रों तलक

रूहानी मोहब्बत को अब ख़ुदा कहता कौन..

____Akarshan Dubey “अंजान”

         

Share: