हुनर

दिमाग़ ठंडा मगर तूफान ए जिगर रखता हूँ
तहज़ीब के दायरे में तंज़ का हुनर रखता हूँ

         

Share: