क़ुरबत

तेरी क़ुरबत का क्यूं है अहसास सदा मेरे साथ ?
ख्वाबों में मिलने से भी क्या मोहब्बत हुआ करती है ?

         

Share: