चाहते क्या हो

 

ना दुनिया वास्ते मेरे ना खुद को ही मयस्सर हूँ
मुझे तकसीम कर के अब बताओ चाहते क्या हो

अरशद साद

         

Share: