खिलौना

जिस्म मिट्टी का हुआ तो क्या हुआ।
मेरा दिल कोई खिलौना तो नहीं।।
अंशु

         

Share: