चराग

रौशन चिराग तेरा रहे चाहता हूँ मैं
जितना लहू है जिस्म में सारा निचोङ ले

अरशद साद

         

Share: