दर्द में बह आये दो अशआर

लहू बनकर एक दिन गम निकल जायेगा
साथ आँसूओं के एक दिन दम निकल जायेगा

*****

कहाँ शौक किसी को रो आँखें लाल करने का
इश्क़ देता सौगात जिद़गी भर मलाल करने का

********
Registered CopyRight.-.N.856-/Q875.**
*********
… युवराज अमित प्रताप 77
.. दर्द भरे शेर

         

Share: