दिल ये मेरा

 

कुछ टूटा टूटा सा है दिल ये मेरा
अक्स तेरा भी अब दिखना मुश्किल है इसमें

************************ शुचि ‘भवि’

         

Share: