वफ़ा रखिए

दिल मुहब्बत से तुम भरा रखिए।
इश्क़ करिए तो दिल बड़ा रखिए।१

दास्तां लिख के हम दिखाए यहा,
चाहतें दौर तुम…… सदा रखिए।२

गम के बादल भले हो कितना भी,
हौसला दिल मे तुम ..सदा रखिए।३

रूठ जाए कभी सनम तो बस,
दिल पे …इकरार-ए-वफ़ा रखिए।४

साथ हर दम…… तेरा रहे योगी,
जिन्दगी भर ….यही दुआ रखिए।५

योगेन्द्र कुमार निषाद”योगी”
घरघोड़ा,छ०ग०

         

Share: