प्यार बसाओ

दिल मे तुम प्यार बसाओ तो मजा आजाये
दिल से इस दिल को मिलाओ तो मजा आजाये

अपने बचपन की शरारत के बहुत किस्से हैं
कोई किस्सा ही सुनाओ तो मजा आजाये

चश्म वीरान को चाहत के हसीं ख्वाबो से
तुम किसी रोज सजाओ तो मजा आजाये

एक मुद्दत से नहीं देखा है मैंने जिस को
उसकी तस्वीर दिखाओ तो मजा आजाये

खुदकुशी छोङ दूँ तुम साथ निभाओ जो अगर
आस जीने की जगाओ तो मजा आजाये

जिन्दगी देख के हैरानी मे पङ जायगी
मौत से हाथ मिलाओ तो मजा आजाये

तेरे दीदार मे इस से भी खलल पङता है
जुल्फ चेहरे से हटाओ तो मजा आजाये

चान्द क्यूं खुद को छुपाये है हसीं पैकर में
रूख से यह पर्दा हटाओ तो मजा आजाये

सादगी मे भी अदायें है तुम्हारी कातिल
शर्म से चेहरा छुपाओ तो मजा आजाये

कब ना जाने हो मुलाकात गले तुम उसको
साद शिद्दत से लगाओ तो मजा आजाये

अरशद साद

         

Share: