“मैं तेरा हो गया…”

°°°
रिश्ता तहे-दिल से निभाना , मैं तेरा हो गया ।
अब कुछ भी बोले ज़माना , मैं तेरा हो गया ।
••
मेरी आँखों में देख लो , नज़र आओगे तुम ,
नज़र मुझसे अब न हटाना , मैं तेरा हो गया ।
••
एक-दूजे के वास्ते इस ज़हां में आये हम ,
ज़रूरत पड़े , आज़माना , मैं तेरा हो गया ।
••
हाल कुछ ऐसा है दिल का , चाहत में ऐ सनम ,
करूँ नहीं कोई बहाना , मैं तेरा हो गया ।
••
चैन के ये दो पल अब जाकर नसीब हुए हैं ,
अब बस यहीं हुआ ठिकाना , मैं तेरा हो गया ।
••
ज़िंदगी बेहद हसीन , इसलिए कि इसमें तुम हो ,
पढ़ना अच्छे से अफ़साना , मैं तेरा हो गया ।
••
क्या अच्छा है क्या बुरा , नहीं जानता “कृष्णा” ये ?
तुम्हें पता हो तो बताना , मैं तेरा हो गया ।
°°°
— °•K.S. PATEL•°
( 11/03/2019 )

         

Share: