दिल जीतने का हुनर

जीस्त से अपनी आप गर सीखो
जीत लेने का दिल हुनर सीखो

उसमें खुश्या जरूर ठहरेंगी
पहले घर को बनाना घर सीखो

बुज्दिली से नही है कुछ हासिल
दिल से निकले गा कैसे डर सीखो

कैसे इंसान है वली बनता
अपनी ख्वाहिश को मार कर सीखो

मुश्किलों से कभी ना घबराओ
जिंदगी कैसे हो बसर सीखो

ना समझ होते हैं सुनो बच्चे
गल्तियां करना दर गुजर सीखो

बन ना इंसानियत का तू दुश्मन
एक कामिल बनो बशर सीखो

गुफ्तुगू मे शऊर पैदा करो
बोलना इतना मुख्तसर सीखो

ना कहो साद मोअतबर खुद को
सीख अच्छी हो उम्र भर सीखो

अरशद साद रूदौलवी

         

Share: