“आजकल खूब टैलेंट चाहिए”…

°°°
चेहरे की भाव-भंगिमा को बदल दे , अभी वो पेंट चाहिए ।
एक ही सब्जी पसंद नहीं , हर रोज सब्जी डिफरेंट चाहिए ।
••
हाये इन हसीनाओं की फ़रमाईश से बचाये कोई तो ,
इनके दिल में कुछ भी ख़्वाहिश क्या हुई , वो चीज़ अर्जेंट चाहिए ।
••
बड़े अज़ीब हैं क्या बोलें , आजकल के ये कर्मों के सौदागर ?
काम हमेशा करते नहीं औ इंकम तो परमानेंट चाहिए ।
••
एक घर ऐसा भी , जहाँ सारे हैं शराब के दीवाने बाॅस ,
यहाँ बदबू दूर करने के लिए नहीं किसी को सेंट चाहिए ।
••
आधी बन गयी है सड़क औ ख़ुद रास्ता निहार रही है जरा ,
कुछ नहीं , पूरी होने के लिए सरकार से पेमेंट चाहिए ।
••
आजकल किसी का दिल तोड़ना भी इतना आसान नहीं साहब ?
कठोर-दिल होने के लिए भी आजकल खूब टैलेंट चाहिए ।
••
तेरे फेस बुकिया कुछ दोस्त भी बड़े ग़ज़ब के हैं सुनो “कृष्णा”,
ख़ुद लाईक-कमेंट करे न , औ उनको लाईक-कमेंट चाहिए ।
°°°
— °•K. S. PATEL•°
( 14/06/2018 )

         

Share: