Category Archives: मेरा लेख ( महिला)

उसकी खुशी

वो तड़प उठी जब लगाए गए उस पर पहरे क्योंकि वो एक बेटी थी और पिता ने कहा तुम मेरी इज़्ज़त हो, और वो रहने लगी ख़ुशी ख़ुशी अपने पिता की मर्ज़ी के मुताबिक़ जैसे रहती आई थी वो तड़प उठी जब पति ने कहा तुम करती ही क्या हो दिन भर, और वो आँखों […]