(002-A) काग़ज़ दिल पत्र, रचना सेफ रूम , गोपनीयता एवं घोषणा

 

  • 1. काग़ज़ दिल पत्र, रचना सेफ रूम , गोपनीयता एवं घोषणा
Expand All | Collapse All
  • 1. (A-03 ) रचनाकार प्रोफाइल 👤पर कोई भी परिचय/फोटो/जानकारी 🔍नही होने पर या 02 काग़ज़दिल आईडी होने पर ?
     

    यदि रचनाकार सदस्य के प्रोफाइल पर उसके द्वारा जानकारी अपडेट नहीं की जाती हैं  या उसका परिचय उपलब्ध नहीं होता है , किसी श्रेणी में भी वह पोस्ट नहीं करता है , वह रचनाकार प्रतीत नहीं होता है , या किसी और कि रचनाओं पर अपना नाम इस्तेमाल करता पाया जाता है या उसे पासवर्ड लिंक दिए जाने के बाद भी वह उसका इस्तेमाल नहीं करता है   या रचनाकार का नाम ,फ़ोटो ,जानकारी फेक प्रतीत होती हैं  , किसी सदस्य के द्वारा उसकी शिकायत या जानकारी दी जाती है इत्यादि
    एक सदस्य अपना एक ही प्रोफाइल रख सकता है , यदि 02 प्रोफाइल मिलते हैं ,या किसी कारणवश बन गए हैं ,तो इसकी सूचना वह स्वयं दे दे और अपनी जो आईडी उसे रखनी है उसका न० भी ,अन्यथा उसकी कोई भी एक या दोनों आईडी ,सदस्यता न० निरस्त कर दिए जाएंगे।

    सभी हालातों में एक तय प्रक्रिया एवं तय समय के बाद उस रचनाकार की सदस्यता निरस्त कर उसका नाम सूची से हटा दिया जाएगा , ऐसा करने से पहले रचनाकार को उसके संपर्क सूत्र पर सूचना देना या ना देना   , अलग अलग परिस्थिति पर निर्भर करता है।

    More
  • 2. ( A-04 ) RACHNA SAFE ROOM 📮 -– रचना सेफ रूम
     
    *01*
    *रचना सेफ रूम एवं उसमें रखी रचनाएँ आपके अपने निजी उपयोग के लिए है, जिन्हें आप ही देख सकते हैं*
    सेफ रूम में रखी रचनाएँ  पाठक या वेबसाइट / संगठन से किसी भी रूप में जुड़े में हुए सदस्य इत्यादि,  किसी को भी पढ़ने अथवा देखने  के लिए उपलब्ध नही होंगी ,
      इसलिए Google के लिए भी उनका उतना महत्व नहीं है ।
    यह सुविधा सिर्फ़ साइट पर सक्रिय रचनाकारों के लिए काग़ज़दिल के द्वारा *एक अतिरिक्त सुविधा उपलब्ध करवाने के प्रयास का  18 महीने का ट्रायल है , 07 मार्च 2018 से ,*
    *सेफ रूम की फाइनल स्थिति , नियम ,उपलब्धता का आधार ,किसे और कैसे होगा , भविष्य में इसकी उपयोगिता ,दुरुपयोग एवं अन्य ,आप सभी के सुझावों पर ही तय होगी जिसके आधार पर ही सेफ रूम उपलब्ध होगा* , जिसकी बेहतरी के लिए समय समय पर रचनाकारों के सुझावों के आधार पर बदलाव भी किए जाएंगे ।
    कई मेल ऐसे आये की हम Rachna Safe Room लेना चाहते हैं इसलिए सदस्यता लेनी है  । *पर ऐसा करना फ़िलहाल संभव नहीं है* । यह सुविधा सिर्फ़ काग़ज़दिल पर सक्रिय रचनाकारों के लिए बनाई गई है *ना कि सिर्फ़ सदस्यता ले कर इस सुविधा का इस्तेमाल करने हेतु , और ना ही ऐसे किसी सदस्य के द्वारा उसमे *रखी सामग्री का भार काग़ज़दिल वहन कर पायेगा* ,क्योंकि जैसा ऊपर कह चुके हैं कि यह सुविधा सिर्फ़ रचनाकार के निजी उपयोग के लिए है बाकी और किसी भी तरह इसमें रखी रचनाएँ मंच के ,पाठक एवं अन्य किसी के भी उपयोग में नहीं आएंगी ,यह बस एक अतिरिक्त जरूरी महत्वपूर्ण सुविधा रचनाकार सदस्यों को उपलब्ध करवाने का प्रयास है ,जिसका उपयोग करना या ना रचनाकार पर निर्भर करता है।
    *02*
      *जो रचनाकार नहीं है या जिन्होंने सिर्फ़ सेफ रूम के इस्तेमाल के लिए सदस्यता ली है* उनकी सदस्यता निरस्त कर दी जाएगी । जो रचनाकार अपने प्रोफाइल पर भी एक्टिव रहते हैं यह सुविधा सिर्फ़ और सिर्फ़ उन रचनाकारों के लिए है ।
    *03*
    ★ सेफ रूम का इस्तेमाल अनिवार्य नहीं है ,उसका इस्तेमाल करना या ना करना ,रचनाकार की मर्ज़ी पर है ,परंतु यदि रचनाकार सेफ रूम का निरंतर इस्तेमाल करता है ,तब उसे कुछ वक्त अपने प्रोफाइल पर पोस्ट , शेयर  इत्यादि करके भी देना होगा , वह सिर्फ़ रचना सेफ रूम का इस्तेमाल करेगा और अपने प्रोफाइल को खाली रखेगा या उपयोग नहीं करेगा तो उस रचनाकार को सेफ रूम उपलब्ध नहीं हो पाएगा ।
    ★ *04*
    यदि रचनाकार सेफ रूम का बिल्कुल भी इस्तेमाल नहीं करता है तब *उस हालात में रचनाकार अपने प्रोफाइल को कितना समय दे या ना दे , यह उसके खुद की सुविधा के ऊपर निर्भर करता है उस पर कैसा भी कोई बंधन नहीं है।* वह अपने प्रोफाइल पर समय देने या ना देने इत्यादि को लेकर हर फैसला अपनी सहूलियत से करने के लिए स्वतंत्र है।
    *05*
    ★  *विशेष नोट एवं घोषणा-*
          ★★★★★★★★★★
    रचना सेफ रूम में आपकी रचनाएँ पूरी तरह सुरक्षित रखी जाती हैं  ,और उसकी सुरक्षा के लिए संगठन के द्वारा कड़े नियम और उपलब्ध साधनों के अनुसार वह सभी इंतजाम करने का प्रयास किया जाता है जो भी इंटरनेट की दुनिया में संभव हैँ , परंतु किसी विशेष परिस्थिति में कुछ गलत घटित हो जाने पर संगठन यह जिम्मेदारी नहीं लेता है कि वह 100% वॉरंटी या गारन्टी दे सके , इस तरह की Guarantee इंटरनेट की दुनिया में किसी भी समूह संस्था के लिए पूरी तरह संभव नहीं है चाहे वह फेसबुक , बैंक , कोई अन्य संगठन या संस्था ही क्यों ना हो। पर कोई भी जैसे अपनी हरसम्भव कोशिश पटल के लिए अच्छे इंतज़ाम व सुरक्षा की करता है उसी तरह यह संगठन भी उपलब्ध साधनों के अनुरूप करेगा और करता रहेगा यह यकीन आपको दिलाता है ।
    आपकी किसी भी प्रकार की कोई भी जानकारी काग़ज़दिल  संचालन समिति के सदस्यों एवं अन्य किसी को भी उपलब्ध नहीं कराई जाती है यदि वे चाहें तब भी जानकारी प्राप्त नहीं कर सकते , फिर वह रचना सेफ रूम से सम्बंधित हो या सदस्यता फॉर्म भरते वक्त आपके द्वारा भरे गए मेल अथवा मोबाइल न०. ,आप भी अपनी कोई भी जानकारी किसी से शेयर ना करें।
    *06*★
     *रचना सेफ रूम के इस्तेमाल के नियम 18 महीने के ट्रायल पर हैं।* 12 माह बाद आप सभी संगठन के रचनाकार सदस्यों से मेल एवं HIGHLIGHTER के द्वारा सूचित करके आपके विचार और सलाह ली जाएगी ,तब संगठन के द्वारा इसके , उपयोग ,दुरूपयोग ,  संगठन पर इसके रखरखाव का भार वहन क्या और कितना आएगा , *रचनाकारों के लिए इसकी उतनी उपयोगिता है भी कि नही* ,
       ,इसके इस्तेमाल में कमियां और इसे बेहतर बनाने के सुझाव , यह किसे उपलब्ध हो और किसे न हो और कैसे हो इत्यादि पर विचार के बाद नई और आखरी नियमावली ,आप ही से मेल के द्वारा पूछ कर, आप ही के सुझावों ,प्रस्तावों पर बनाकर जारी की जाएगी ,फिर वही आगे हमेशा के लिए लागू रहेगी ।
    *07*
     सभी बातें सच्चाई ,ईमानदारी साफ सुथरे तरीके से संगठन के सदस्यों के सामने रखने को अपनी जिम्मेदारी समझते हुए , आशा करते हैं कि आप समझेंगे एवं एक जिम्मेदार सदस्य होने के नाते अपने संगठन के अच्छे भविष्य के लिए सहयोग करेंगे ताकि आपका अपना यह संगठन भविष्य में और भी बेहतर कार्य कर सके और आपके साथ से आगे बढ़ सके , आपको  अतिरिक्त सुविधाएं उपलब्ध कराते हुए ,साहित्य जगत के कल्याण के अन्य कार्य आपके सहयोग से कर सके।
    किसी भी अतिरिक्त जानकारी एवं सुझाव के लिए आप MESSAGE US का इस्तेमाल कर सकते हैं।
    More
  • 3. (A-01) काग़ज़ दिल का पत्र 💌 सभी सम्मानित सदस्यों के नाम
     
    काग़ज़ दिल का पत्र
    ****************
    सभी सम्माननीय सदस्यों का काग़ज़ दिल संगठन में हार्दिक स्वागत है।
    *आपके बेशकीमती वक्त को देखते हुए दो भाग में यह पत्र संदेश आपके समक्ष रखना चाहेंगे।*
    *01*
    आपके संगठन के उद्देश्य जानने के लिए आप
    *About us-काग़ज़ दिल के बारे में*   अवश्य पढ़ें।
    *02-*  संगठन का हर सदस्य बहुत महत्वपूर्ण है ,
    सभी की कार्यप्रणाली व योगदान अलग अलग तरह से हो सकते हैं , संगठन में हर सदस्य का बराबर सम्मान और अधिकार है ,यहाँ कोई छोटा,बड़ा या प्रमुख नहीं है।
    सभी अपना अपना योगदान , अपनी  जिम्मेदारी जिस भी रूप में चाहें सुविधानुसार निभा सकते हैं , *रचनाकार , पाठक ,कलमकार पाठक एवं अन्य सदस्य जो संचालन समिति ,सहयोगी सदस्य इत्यादि विभिन्न रूपों में यहाँ जुड़े हैं,*
     वह इस संगठन को, इस मंच को स्वयं की जिम्मेदारी मानते हुए ,  अपना योगदान दे रहे हैं और देते रहेंगे , संगठन में एक अच्छा ,साफ ,शुद्ध साहित्यिक वातावरण बन सके तथा साहित्य जगत के कल्याण के लिए सभी मिलकर कुछ कर सकें बस यही प्रयास है ।
    इसलिए जहाँ भी कमी नज़र आये ,सुधार की गुंजाइश नज़र आये , आप उसे काग़ज़ दिल संगठन , परिवार के प्रति अपनी जिम्मेदारी मानकर आगे आएं , ज़रा भी संकोच न करें ,खुद को संगठन से अलग या अजनबी न मानते हुए , बस यह यकीन रखिए की यह किसी एक व्यक्ति या कुछ व्यक्तियों का संगठन या मंच नहीं , इसकी सदस्यता लेने वाले हर सदस्य का है ,हम सब का है ,
    और यहां पर प्रमुख सिर्फ़ *भावनाएं , साहित्य , सच्चाई , इंसानियत और ऊपरवाला* है , तो ,"आपका संगठन से क्या लेना देना ,सिर्फ वेबसाइट पर आते हैं पोस्ट कर या पढ़ कर चले जाते हैं, हमें और क्या मतलब " यह बिल्कुल मत सोचिए ।
    यह निवेदन है ,क्योंकि यह सिर्फ़ एक वेबसाइट नहीं है , यह एक संगठन है ,जिसकी एक सहयोगी एन. जी.ओ. ( N.G.O ) है ,  इंटरनेट के अलावा ज़मीन पर किए जाने वाले कार्य हैं ,
    वेबसाइट /ब्लॉग तो एक जरिया है आधुनिक दुनिया के सशक्त माध्यम इंटरनेट को ज़रिया बनाकर , एक जगह एकत्रित होने का , अपने घर ,शहर से निकले बिना एक उदेश्य एक मंच से जुड़ने का , देश भर के ईमानदार ,अच्छी सोच वाले , साहित्य प्रेमियों  का ।
    हम सभी मिलकर कई साहित्य एवं समाज हित के कल्याणकारी कार्य  कर रहे हैं और करेंगे ।
    एक पाठक सदस्य अगर थोड़ा समय संगठन के रचनाकारों की रचनाओं को पढ़ता है उनकी हौसला अफजाई करता है या शेयर करता है तो यह भी महत्वपूर्ण योगदान है ।
    जो संगठन के उद्देश्य पूर्ति और मजबूती के लिए अत्यधिक जरूरी है । रचनाकार अपनी दुर्लभ रचनाओं से मंच को सुसज्जित करके , एवं अन्य सच्चे साहित्यसेवी ,साहित्यकारों , रचनाकारों को मंच से जोड़कर अपना योगदान दे रहे हैं यह भी कितना महत्वपूर्ण योगदान है और संगठन के अन्य उद्देश्यों के लिए भी जिसके लिए जो भी संभव है सभी अपना योगदान दे रहे हैं और निरंतर देते रहेंगे , कलमकार पाठक ,
    काग़ज़ दिल के उद्देश्यों में विश्वास दिखाकर *काग़ज़दिल संचालन समिति* में देश के अलग अलग राज्यों से एकत्रित हुए साहित्य प्रेमी सदस्य , *अपने समय के रूप में  निःस्वार्थ सेवा दे रहे हैं*  सम्मानित विशिष्ट सलाहकार इत्यादि सभी का
    संगठन के लिए निस्वार्थ भाव से समय देना , अपने आप में महत्वपूर्ण है और किसी एक का भी मूल्यांकन नहीं किया जा सकता है।
     हमें सिर्फ़ अधिक से अधिक सदस्यों की संख्या बढ़ाने पर ज़ोर नहीं देना है , एक संतुलन ,एक नियम सयंम ,नीति ,सिद्धांत पर चलकर , एक अच्छा वातावरण ,एक पारिवारिक माहौल रखना है
     और किसी भी सदस्य की उपेक्षा कदापि नहीं करनी है ,
     इसलिए यदि किसी सदस्य का आचरण ,कार्यशैली संगठन के नियमों या अन्य सदस्यों के विपरीत नज़र आता है तो सदस्यता निरस्त करने का विकल्प भी रखना है , अपितु परिस्थिति एवं सही तथ्यों का मूल्यांकन करते हुए , मानवीय भूल एवं गलती के एहसास को भी मौका देने का प्रयास करना है ।
    अपने मंच को अपने लिए तैयार कीजिए ,करते रहिए और बेहतर बनाने का प्रयास करते रहिए क्यों कि सुधार का कोई अंत नहीं हो सकता ।
    अगर कहीं कोई कमी है, त्रुटि है ,मानवीय भूल समझते हुए , संगठन आपका अपना है , उसमें आगे आकर , संदेश भेजकर सुधार करवाइए , कहीं किसी सदस्य के द्वारा आपत्तिजनक कार्य किया जा रहा है , *चाहें वह सदस्य काग़ज़दिल से किसी भी रूप में जुड़ा है,* उसकी सूचना *MESSAGE US* से दीजिए , कोई सुझाव है उसे आगे रखिए।
    अच्छे लोगों को अपने संगठन से जोड़िए और एक ईमानदार ,सच्ची पहल के साथ कदम मिलाते हुए संगठन को मजबूती देकर , जिस रूप में भी संभव हो योगदान दीजिए और इस साहित्यप्रेमियों की दुनिया को खूबसूरत बनाने में सहयोग कीजिए ,
    आप इंटरनेट पर जितना भी समय बिताते हैं और बिताते आ रहे हैं और आगे भी बिताते रहेंगे अपनी सुविधा ,जरूरत ,खुशी के अनुसार ।
    अब उसका कुछ समय एक समाज सेवा ,साहित्य सेवा , साहित्य के कल्याण के लिए इस उद्देश्य के लिए ,आपके अपने इस मंच के लिए भी देने का प्रयास कीजिए ,जिसका एक सच्चा उद्देश्य भी है और सही , ईमानदार दिशा भी ,जिसमें आपकी भागीदारी सिर्फ़ लाइक ,कमेंट ,पोस्ट की या किसी मंच को दूर से देखने भर की नहीं है , फ़ैसले , समाधान , सुझावों , बदलावों और भविष्य की योजनाओं में भी आप अपनी बात रखते रहें , और आपका योगदान और उपस्थिति ही संगठन की बुनियाद है।
     आपका दिया हुआ हर लम्हा ,हर ख्याल बेहद कीमती है ,समय अवश्य लग सकता है पर आपके द्वारा किसी भी रूप में दिया गया योगदान साहित्य जगत के लिए बहुत कल्याणकारी साबित होगा , और एक दिन सभी के सहयोग से संगठन अपने उद्देश्यों की पूर्ति अवश्य करेगा ,और हर सदस्य को मंच से अपनत्व भी मिलेगा
     काग़ज़दिल संगठन के लिए हर सदस्य के समर्पण ,सक्रियता एवं काग़ज़दिल की नीति ,सदस्यों के प्रति ईमानदारी और सोच को देखकर यह विश्वास और आशा है।
    *इस संदेश को पढ़ कर अपना बेशकीमति समय देने के लिए बहुत बहुत शुक्रिया ।*
    More
  • 4. (A-02 ) गोपनीयता आपकी ई-मेल एवं अन्य काग़ज़ दिल ई-मेल एवं घोषणा
     
    Membership / सदस्यता फार्म भरते वक्त आपके द्वारा लिखे गए मोबाइल न० एवं  ई-मेल आईडी  गोपनीय रहती हैं , यहाँ तक कि वह काग़ज़दिल संचालन समिति से या अन्य रूप में जुड़े सदस्यों को भी उपलब्ध नहीं होते हैं , यदि वह प्राप्त करना चाहें तब भी ।
    काग़ज़ दिल किसी भी रचनाकार ,कलमकार पाठक ,पाठक सदस्य से व्यक्तिगत तौर पर किसी की कोई भी निजी या अन्य किसी भी प्रकार की कोई जानकारी मेल के द्वारा नहीं मंगाता है , जो भी सूचना ,जानकारी देनी या लेनी होती हैं वह अधिकतर सभी के लिए और सार्वजनिक रूप से होती हैं , अधिकांश उसकी सूचना वेबसाइट के मुख्य पृष्ठ पर मौजूद हाइलाइटर HIGHLIGHTER के द्वारा दी जाती है , यदि किसी विशेष परिस्थिति या जरूरत पर किसी को ऐसी कोई जानकारी देनी या लेनी होगी जैसे कि पासवर्ड का लिंक देना है तब उनमें सिर्फ़ वही मेल इस्तेमाल होती हैं जिनमें @gmail नहीं होता उसकी जगह @Kaagazdil.Com  होता है जैसे कि Membership@KaagazDil.Com
     gmail की इस्तेमाल की जाने वाली मेल आईडी सिर्फ़ वहीं होंगी जो आईडी या तो वेबसाइट पर लिखी होगी किसी जानकारी में या आपके मेल के जवाब rply से आपके संदेश सहित आपको मेल प्राप्त होगा ,अन्यथा कोई नया मेल खुद से आपको काग़ज़ दिल की तरफ से कभी प्राप्त नहीं होगा और ना ही आप उस मेल से कोई भी संपर्क स्थापित करें और ना किसी को अपनी कोई भी जानकारी दें ,किसी भी जानकारी के लिए वेबसाइट पर मौजूद MESSAGE US बॉक्स से संदेश भेज जानकारी कर लें औऱ अपने भेजे गए संदेश के जवाब को ही तव्वजो दें ।
    काग़ज़ दिल कोई भी मोबाइल न० इस्तेमाल नहीं करता है इस बात का खास ख्याल रखें ।
    संचालन समिति एवं अन्य सदस्यों जो कि साहित्यसेवा के लिए काग़ज़दिल से जुड़े हैं , उनसे भी आप सिर्फ़ उन्हीं बातों का आदानप्रदान करें जो कि वेबसाइट पर सार्वजनिक रूप से कही गई हों अन्यथा वेबसाइट के फीचर्स का इस्तेमाल कर के अपने कार्य वेबसाइट पर लिखे निर्देशानुसार ही करें ।
    यदि कोई ऊपर लिखी या वेबसाइट पर लिखी जानकारी से अलग कोई कार्य या जानकारी ,राशि इत्यादि का आदान प्रदान करता है तो वह उसके लिए पूरी तरह स्वयं जिम्मेदार होगा ।
    More
  • 5. (A-05 ) रचनाकार को कब कलमकार पाठक में हस्तांतरित ✈️ कर दिया जाएगा ?
     

    काव्य रचना एवं शेरो-ओ-शायरी में लिखने वाले रचनाकार के द्वारा जब सिर्फ़ एक ही श्रेणी  कविता / नज़्म का इस्तेमाल किया जाएगा
    और उसमें भी उनकी रचना किसी भी प्रकार से सही रूप में नज़र नहीं आएगी जैसे कि
    निरन्तर निम्न स्तर की गुणवत्ता  होगी , मात्राओं में त्रुटियाँ , शब्दों और भाव का गलत प्रयोग और लिखने का तरीका भी प्रभावशाली नहीं होगा

    एवं

    *निरंतर वह रचनाओं को गलत श्रेणियों  में पोस्ट करेंगे , जिन श्रेणियों के उन रचनाओं से दूर तक भी मेल नहीं ,  गलत साहित्यिक विधाओं के अनुसार*

    तो ऐसे हालात में रचनाकार को सूचित करने के बाद उन्हें कलमकार पाठक में हस्तांतरित कर दिया जाएगा

    More