* आमंत्रण पत्र
★★★★★★★★★★★★★
सभी
सम्मानित रचनाकारों , पाठकों एवं कलमकार पाठकों को

कागज़दिल.कॉम वेबसाइट के शुभारम्भ में – 07 मार्च 2018 को 09 A.M. से * 21 दिन एवं 11 दिन के साहित्य समारोह में सदस्यता ( *07 दिसंबर से प्रारंभ) एवं समारोह में शामिल होने के लिये काग़ज़दिल.कॉम साहित्यसेवी संगठन सादर आमंत्रित एवं शगुन प्राप्ति का आग्रह करता है ।

★ साहित्य शगुन समारोह ★
में
(★ कुल 35 चयनित लोगों को शगुन ★ )

★ 07 मार्च 2018 से 27 मार्च 2018★
( 21 दिन – पहला चरण )
और
★ 11 अप्रैल से 21 अप्रैल ★
(11 दिन दूसरा चरण )
★★★★★★★★

★ शगुन प्रक्रिया जानने के लिए नीचे क्लिक करें ★

  • 1. Invitation Questions
Expand All | Collapse All
  • 1. ★ पाठकों के लिए शगुन प्रक्रिया★
     

    ★ पाठकों के लिए शगुन प्रक्रिया★
    ★★★★★★★★★★★★★
    **********
    शुभारंभ के उपलक्ष्य में आयोजन रखा गया है जिसमें की सभी
    पाठक ( ★ जो सदस्य नहीं हैं वे भी★ )
    हिस्सा लेंगे और एक चयन प्रक्रिया के आधार पर , चयनित ,
    ★ कुल 11 ★ " पाठकों को सप्रेम शगुन भेंट की जाएगी।
    जिसके निर्णय की सूचना समारोह उपरांत -
    ★ 7 अप्रैल 2018 पहला ★

    ★★★★★★★★★★★★
    ★ पाठकों के लिए शुभारम्भ प्रक्रिया ★
    ★★★★★★★★★★★★★

    सभी पाठक समारोह प्रक्रिया में शामिल होंगे , वे काग़ज़दिल. कॉम के सदस्य हैं अथवा नहीं *MEMBERSHIP ?
    परंतु शगुन लेते वक्त पाठक का नाम मेम्बरशिप सूची में होना अनिवार्य है , अगर शगुन के लिए किसी ऐसे पाठक का नाम आता है जो कि " MEMBERSHIP " सूची में नहीं है तो वह अपना नाम घोषित होने पर , शगुन लेने से 2 दिन पहले सदस्यता सूची में शामिल होकर शगुन प्राप्त कर सकते हैं।

    ★ विशेष सूचना ★

    ★ नोट - भविष्य में होने वाली प्रतियोगताओं में सभी पाठक हिस्सा लेकर ,लाइक कमेन्ट्स से अपनी प्रतिक्रिया तो दे सकेंगे परंतु , घोषित पुरुस्कार सिर्फ काग़ज़दिल. कॉम के सदस्य पाठक ही प्राप्त कर सकेंगे ।

    ★ पाठकों को शगुन राशि 03 प्रकार से प्राप्त होगी ★
    ★★★★★★★★★★★★★

    ★01- रचनाकरों की विजेता रचना सहित टॉप 05 रचनाओं पर मौजूद कमेंट के आधार पर।
    501/- ,251/- ,201/- एवं 101/-

    ★02- सबसे कम लाइक पाने वाली किसी भी पोस्ट पर मौजूद कमेंट के आधार पर
    251/-रुपये

    ★03- भारतीय घड़ी के समय के आधार पर
    251/-रुपये

    ★ जिनका विवरण इस प्रकार है ★

    ★01- रचनाकरों की विजेता सहित टॉप 05 रचनाओं पर मौजूद कमेंट के आधार पर

    * प्रथम/ द्वितीय/तृतीय 03 विजेता रचनाओं पर मौजूद कुल कमेंट में से ( कम से कम 4 शब्द अनिवार्य ) सबसे ज़्यादा शब्दों के सार्थक 03 कमेंट्स को क्रमशः
    501 /-
    251/-
    201/-
    रुपयों का शगुन
    * एवं
    *- बाद की Top -03 रचनाओं पर ( 4 शब्द अनिवार्य ) मौजूद सबसे ज्यादा शब्दों के सार्थक 03 कमैंट्स को
    101/-
    रुपये का शगुन प्रत्येक को ।
    ***********
    ★★★★★★★★★★★★★
    ***********
    ★02- सबसे कम लाइक पाने वाली रचनाकर /कलमकार पाठक की किसी भी पोस्ट पर मौजूद कमेंट के आधार पर

    *-- सबसे कम लाइक्स (कम से कम एक लाइक अनिवार्य ) पाने वाली रचना पर (4 शब्द अनिवार्य ) सबसे ज्यादा शब्दों के सार्थक 02 कमेंट को

    251/- प्रथम

    151/- द्वितीय
    रूपयों का शगुन ।

    ( * नोट - सबसे कम लाइक की रचना एक से अधिक होने पर कुल कमेन्ट्स में से कोई 02 कॉमेंट )
    ***********
    ***********
    ★03- भारतीय घड़ी के समय के आधार पर

    @*- घड़ी के समय अनुसार साइट पर आने वाले किसी भी पोस्ट पर रचनाकार/कलमकार पाठक के सर्वप्रथम सार्थक 03 कॉमेंट्स को

    251/- प्रथम

    151 /- द्वितीय

    101- तृतिय
    रुपये का शगुन
    ( सभी में 5 शब्द अनिवार्य )

    समय 7 मार्च 09 A.M. से प्रारंभ
    ( उदाहरण - 9.01A.M. , 9.05 A.M. , 9.10 A.M. )

    ***********
    अपने मित्रों, साथियों सहित शामिल हो समारोह को भव्यता प्रदान करें ।

    शगुन की राशि का भुगतान PAYTM द्वारा किया जायेगा

    शगुन प्रक्रिया के लिए निर्धारित मानकों के अनुरूप परिणाम न आने पर निर्णायक समिति द्वारा शगुन प्रक्रिया के नियम में पोस्टिंग के लिए दी गई कालावधि के अंतिम दिन तक भी परिवर्तन किया जा सकता है । निर्णायक समिति का निर्णय अंतिम और सर्वमान्य होगा।
    ( निम्न गुणवत्ता वाली रचनाएँ शगुन प्रक्रिया में शामिल नहीं की जायेगी )

    ★ निवेदक ★

    समस्त काग़ज़दिल. कॉम साहित्यसेवी संगठन
    ★ आवाज़ आपके दिल की ★
    KAAGAZDIL.COM

    More
    Was this answer helpful ? Yes / No
    Viewed 246 Times
  • 2. ★ रचनाकारों के लिए शगुन प्रक्रिया ★
     

    ★ रचनाकारों के लिए शगुन प्रक्रिया ★
    ★★★★★★★★★★★★★
    ***********
    शुभारंभ के उपलक्ष्य में यह आयोजन रखा गया है जिसमें की सदस्यता उपरांत सभी सम्मानित रचनाकार
    हिस्सा लेंगे और एक चयन प्रक्रिया के आधार पर , चयनित ,
    ★ कुल 19 ★ " रचनाकारों को सप्रेम शगुन दिया जाएगा ।
    जिसके निर्णय की सूचना समारोह उपरांत दी जाएगी ।
    ★ 07 अप्रैल 2018 पहली ★
    ★ 25 अप्रैल 2018 दूसरी ★

    ★ नोट
    ★ " काग़ज़दिल " शब्द का एक बार इस्तेमाल किये बिना लिखी गई रचनाओं /रचनाकारों का भी स्वागत है । *वह बिना *शीर्षक ( काग़ज़दिल )के रचना पोस्ट कर सकते हैं ।
    परंतु वह रचनाएँ शगुन प्रक्रिया में शामिल नहीँ होंगीं ।

     

     

    समारोह चयन- प्रक्रिया निम्नलिखित रहेगी
    ★★★★★★★★★★★★★
    01 ★
    रचना में ★ " काग़ज़ दिल " ★ शब्द का इस्तेमाल कम से कम एक बार होना अनिवार्य है ।
    ★ रचना का शीर्षक " कागज़ दिल " अवश्य लिखें ।
    ★ रचना कम से कम 4 पंक्ति में होनी चाहिए।
    ★ आपकी रचना, रचनाओं की किसी भी श्रेणी में हो सकती है , उसमें किसी भी साहित्यिक विधा का बंधन नहीँ है । वह हिन्दी , अथवा उर्दू-हिन्दी में हो सकती है।

    ★ चयनित 19 रचनाकारोंं को शगुन राशि 03 प्रकार की प्रक्रिया से प्राप्त होगी ★
    ★★★★★★★★★★★★★

    01★ -अधिकतम लाइक के आधार पर
    2100/- ,1500/- ,1100/- एवं 101/- रुपये

    02-★ भारतीय घड़ी के समय के आधार पर
    ( वेबसाइट पर सबसे पहले आने वाली )
    501/-, 251/- ,201/-, एवं 151/- रुपये

    03-★ रचना की सुंदरता/खूबसूरती के आधार पर
    2100/- ,1100/- ,251/- एवं अन्य घोषणाएं

    ★ नोट - एक बार पोस्ट की गई रचना , शगुन की तीनों प्रक्रिया ( 01 , 02 ,03 ) में हिस्सा ले सकती है , अथवा रचनाकार 03 या 03 से अधिक रचना भी पोस्ट कर सकता है )

    ★ जिनका विवरण इस प्रकार है ।
    ***********
    ★★★★★★★★★★★★★
    ***********
    01★ - अधिकतम लाइक के आधार पर ।
    ( पोस्टिंग का समय 07 मार्च 09 A.M. से 25 मार्च 2018 तक )

    ★ एक ही रचना तीनों शगुन प्रक्रिया (01 ,02 ,03 ) में हिस्सा ले सकती है अथवा रचनाकार 03 या 03 से अधिक रचना भी पोस्ट कर सकते हैं

    ★ अधिकतम पंसद/ लाइक पाने वाली तीन रचनाओं को क्रमशः प्रथम ,द्वितीय, तृतीय ...
    (जिनपर कम से कम 11 लाइक होना अनिवार्य है )

    (A) प्रथम रचना को 2100/- रुपयों का शगुन

    (B) द्वितीय रचना को 1500/- रुपयों का शगुन

    (C) तृतीय रचना को 1100/- रुपयों का शगुन

    (D) विजेता के बाद की टॉप 05 रचनाओं को
    101/- रुपये प्रत्येक को शगुन
    ( 11 लाइक्स अनिवार्य )

    ★★. विशेष सूचना ★★
    ★★★★★★★★★★★★★
    * नोट - कम से कम 52 रचना प्रक्रिया में शामिल होने पर ही प्रक्रिया सम्पन्न होगी। ऐसा ना होने की स्थिति में लाइक के आधार, मौजूद रचनाओं में प्रथम 03 रचनाओं को
    प्रथम - 1100/-
    द्वितीय - 0551/-
    तृतीय - 0251/-
    एवं बाद कि टॉप 05 रचनाओं को 101/- रूपयों का शगुन सप्रेम भेंट किया जाएगा )
    ( सभी के लिए 11 लाइक अनिवार्य )

    ★ निवेदन ★

    अपने मित्रों को शामिल कर समारोह को भव्यता प्रदान कर सफल बनाये।
    **********
    ★★★★★★★★★★★
    **********
    02-★ भारतीय घड़ी के समय के आधार पर
    ( पोस्टिंग का समय 07 मार्च 2018 - 09.00 A.M. से प्रारंभ )

    ★एक ही रचना तीनो शगुन प्रक्रिया में शामिल हो सकती है अथवा रचनाकार 03 या 03 से अधिक रचना भी पोस्ट कर सकते हैं ।

    ★ वेबसाइट पर सबसे पहले आने वाली पोस्ट , 05 लाइक पूरे करते ही

    (A) ★ भारतीय घड़ी के समय के हिसाब से पोस्ट होने वाली पहली रचनाओं को क्रमशः ( कुल 5 लाइक पूरे होते ही )

    * 501/-
    * 251/-
    * 201/-

    ★ पहली 03 रचना के बाद की टॉप 05 रचनाओं को समय के आधार पर प्रत्येक को

    151/- रुपये का शगुन
    ( कुल 05 लाइक पूरे होते ही )

    ★ नोट -
    पोस्टिंग का समय 07 मार्च 2018 , 09.00 A.M. से प्रारंभ होगा
    ( उदाहरण - समय के आधार पर 09.05 A.M , 9.11 A.M. ,09.17 A.M. में 5 लाइक पूरे होते ही , प्रथम ,द्वितीय , तृतीय क्रमशः )
    **********
    ★★★★★★★★★★★
    **********
    03 -★ रचना की सुंदरता के आधार पर

    ★ ये रचना समारोह के पहले दिन से आखिरी दिन तक कभी भी पोस्ट की जा सकती है 07 मार्च से 25 मार्च तक

    ★ ये रचना शुरू में पोस्ट होकर, पहली 02 शगुन प्रक्रिया में शामिल हो चुकी रचना भी हो सकती है अथवा 07 मार्च से 25 मार्च तक की गई नई पोस्ट/रचना भी हो सकती है। अर्थात रचनाकार पुनः पोस्ट कर सकते है

    ★ काग़ज़ दिल
    शब्द का कम से कम एक बार इस्तेमाल करके लिखी गई, सबसे खूबसूरत 25 रचनाओं की सूची समारोह के बाद
    07 अप्रैल 2018 को जारी की जाएगी ।

    ★ चयनित 25 रचनाओं को पाठकों की राय /लाइक्स के लिए 11 अतिरिक्त दिन
    11अप्रैल 2018 से
    21अप्रैल 2018
    तक के लिए रखा जाएगा ।

    ★ सबसे अधिक वोट ( लाइक्स ,21 वोट/लाइक अनिवार्य , जिसमें की पुराने 11 लाइक भी शामिल होंगे / मान्य होंगे )
    पाने वाली प्रथम * 05 * रचनाओं को -

    A★ प्रथम को 2100/- रूपयों का शगुन

    B★ द्वितीय को 1100/- रूपयों का शगुन

    C★ बाद कि टॉप तीन रचनाओं को
    251/- रुपयों का शगुन
    प्रत्येक को दिया जाएगा
    एवं
    प्रथम ,द्वितीय
    तथा किन्हीं 11 रचनाओं को वेबसाइट पर काग़ज़दिल पुस्तकालय में स्थान दिया जाएगा।

    ★★. विशेष सूचना ★★

    ★( नोट - खूबसूरत रचनाओं की इस प्रक्रिया में यदि कम से कम 25 रचनाएँ चयन के अनुरूप उपलब्ध नही होती हैं तो ये वोटिंग उपलब्ध रचनाओं में कराई जाएगी ।शगुन की राशि

    ★प्रथम रचना को 1100/- रुपये

    ★द्वितीय रचना को 501/- रुपये
    एवं
    ★तृतीय रचना को 251/- रुपये

    शगुन दिया जाएगा ।
    ( ★ इसमें कुल 11 लाइक पुराने सहित मान्य होंगे ★)

    ★ शगुन राशि से अलग अन्य घोषणाएं ★

    चयनित 25 रचनाओं में से सिर्फ समिति की पंसद से किन्हीं 02 से 07 रचनाओं को --
    01-
    काग़ज़दिल.कॉम की ई- पत्रिका में स्थान दिया जाएगा
    ( जिसके द्वारा सदस्य पाठकों तक वह रचना पँहुचेगी )

    02 - काग़ज़दिल.कॉम की वार्षिक प्रिंट पुस्तक में स्थान दिया जाएगा

    03 - वेबसाइट के मुख्य पृष्ठ ( होम पेज ) पर महत्वपूर्ण काग़ज़दिल विशेष पोस्ट में
    " काग़ज़दिल पोस्ट " पर 02/03 रचनाओं को 7-7 दिन के लिए स्थान दिया जाएगा ।
    ( अगर काग़ज़दिल के लिए लिखी गई होंगी तो उनको प्राथमिकता )

    04- काग़ज़दिल पुस्तकालय की विशेष रचनाओं में स्थान दिया जाएगा , ( यदि वो काग़ज़दिल के लिए लिखी गई होगी अन्यथा नहीं । )
    ***********
    ★ अन्य सूचना ★
    ***********
    ★ निम्न गुणवत्ता वाली रचनाएँ इस आयोजन का हिस्सा नही बन पाएंगी
    अन्तिम निर्णय काग़ज़दिल चयन समिति का ही मान्य होगा।

    समान लाइक होने की स्थिति में या तो लाइक कम ज्यादा होने पर ही निर्णय होगा ,जिसके लिए काग़ज़दिल समिति के निर्णय पर अधिकतम 03 दिन का अतिरिक्त समय दिया जा सकेगा अन्यथा काग़ज़दिल समिति का निर्णय ही अंतिम होगा ,जो की कई पहलुओं को ध्यान में रख कर लिया जाएगा ।
    *********
    ★ पोस्टिंग 7 मार्च 2018 को सुबह 09.00 A. M. से प्रारंभ होगी ।

    ★ सदस्यता 07 दिसंबर 2017 से प्रारंभ है

    ★ लॉगिन/पासवर्ड 07 फरवरी से मिलने प्रारंभ हैं

    ★ 07 मार्च 09 .A.M. से
    पहले पोस्ट की हुई रचनाओं का भी हार्दिक स्वागत है परंतु वह समारोह शगुन प्रक्रिया में शामिल नहीं मानी जायेंगी ।
    *********
    ★ रचनाकार साइट पर मौजूद किसी भी कैटेगरी/ऑप्शन में पोस्टिंग कर सकते हैं । "कलमकार पाठक पोस्टिंग " ऑप्शन को छोड़ कर
    *
    ********
    ★ शगुन की राशि का भुगतान PAYTM द्वारा किया जाएगा एवं सम्मान पत्र की SOFT COPY मेल द्वारा भेजी जाएगी ।

    शगुन प्रक्रिया के लिए निर्धारित मानकों के अनुरूप परिणाम न आने पर निर्णायक समिति द्वारा शगुन प्रक्रिया के नियम में पोस्टिंग के लिए दी गई कालावधि के अंतिम दिन तक भी परिवर्तन किया जा सकता है । निर्णायक समिति का निर्णय अंतिम और सर्वमान्य होगा।
    ( निम्न गुणवत्ता वाली रचनाएँ शगुन प्रक्रिया में शामिल नहीं की जायेगी )

    **********
    ★ निवेदक ★
    समस्त काग़ज़दिल. कॉम साहित्यसेवी संगठन
    ★ आवाज़ आपके दिल की ★
    KAAGAZDIL.COM

    More
    Was this answer helpful ? Yes / No
    Viewed 882 Times
  • 3. ★ कलमकार पाठकों के लिए शगुन प्रक्रिया★
     

    ★ कलमकार पाठकों के लिए शगुन प्रक्रिया★
    ★★★★★★★★★★★★★
    ( कलमकार पाठक बनने एवं के बारे में जानकारी के लिये नीचे इस पेज के बाहर, वेबसाइट के मुख्य पेज " होम पेज " पर नीचे जाकर , No.03 ,10 ,11 देखें एवं पढ़ें )

    शुभारंभ के उपलक्ष्य में आयोजन रखा गया है जिसमें की सदस्यता के उपरांत सभी सम्मानित कलमकार पाठक
    हिस्सा लेंगे और एक चयन प्रक्रिया के आधार पर चयनित
    ★ कुल 03 ★ कलमकार पाठकों को सप्रेम शगुन दिया जाएगा।
    जिसके निर्णय की सूचना समारोह उपरांत -
    ★ 7 अप्रैल 2018 को दी जाएगी ★
    चयन- प्रक्रिया निम्नलिखित रहेगी
    ★★★★★★★★★★★★★
    कलमकार पाठक ★ काग़ज़ दिल ★ शब्द का इस्तेमाल करके, किसी भी रूप में अपना भाव प्रकट कर सकते हैं । जिसमें 04 पंक्ति कम से कम होना अनिवार्य है ।
    लॉगिन/ पासवर्ड से सिर्फ और सिर्फ
    " कलमकार पाठक पोस्टिंग " कैटेगरी/ ऑप्शन में ही रचना पोस्ट कर सकते हैं ।
    * सर्वाधिक लाइक के आधार पर
    ( 10 लाइक कम से कम अनिवार्य )

    01- प्रथम अभिव्यक्ति को 501/- रुपये
    02- द्वितीय अभिव्यक्ति को 251/- रुपये
    03- तृतीय अभिव्यक्ति को 201/-रुपये

    ( नोट - कम से कम 11 कलमकार पाठकों के शामिल होने पर ही प्रक्रिया सम्पन्न होगी । अन्यथा प्रथम को 251/- , बाकी 02 को 201/- दिया जाएगा - 05 लाइक अनिवार्य )
    ***********
    अपने मित्रों/ साथियों सहित शामिल हो समारोह को भव्यता प्रदान करें

    शगुन की राशि का भुगतान PAYTM द्वारा किया जाएगा

    शगुन प्रक्रिया के लिए निर्धारित मानकों के अनुरूप परिणाम न आने पर निर्णायक समिति द्वारा शगुन प्रक्रिया के नियम में पोस्टिंग के लिए दी गई कालावधि के अंतिम दिन तक भी परिवर्तन किया जा सकता है । निर्णायक समिति का निर्णय अंतिम और सर्वमान्य होगा।
    ( निम्न गुणवत्ता वाली रचनाएँ शगुन प्रक्रिया में शामिल नहीं की जायेगी )

    ★ निवेदक ★
    समस्त काग़ज़दिल. कॉम साहित्यसेवी संगठन
    ★ आवाज़ आपके दिल की ★
    KAAGAZDIL.COM

    More
    Was this answer helpful ? Yes / No
    Viewed 237 Times
  • 4. ★ घोषणापत्र एवं प्रक्रिया में बदलाव ★
     

    रचनाओं को प्रक्रिया में शामिल करने का समय ,प्रक्रिया का समय जो कि 07 मार्च से 27 मार्च तक था

    को बढ़ा कर 7 अप्रैल 2018 तक कर दिया गया है ,यानी कि 07 मार्च से 07 अप्रैल 2018 ।

    ( किसी भी 01 या 02 चयनित रचना को खूबसूरती के आधार पर भी अलग से शगुन राशि दी जाएगी , उन पर एक लाइक होने पर भी , पर राशि का निर्णय परिणाम के वक्त ही लिया जाएगा , यह घोषणा अभी की गई है , यह पहले प्रक्रिया में शामिल नहीं थी )

    ,बाकी सभी प्रक्रिया यथावत रहेंगी।

    पहले परिणाम की तारीख भी उसी अनुसार आगे बढ़ जाएंगी उतने ही दिन जोड़कर , जिससे खूबसूरती ,गुणवत्ता के आधार पर रचनाकारों की शगुन प्रक्रिया का समय एवं परिणाम भी उसी अनुसार आगे बढ़ जायेंगे ।

    ऐसा करने का कारण प्रक्रिया के प्रथम लेविल 11 लाइक की 52 रचनाओं को पूरा करने के लिए , एवं खूबसूरती के आधार पर 25 रचनाओं का चयन हो सके ,

    ( ख़ूबसूरती के आधार पर रचनाएँ कम ही चयन हो पाती हैं 25 से अगर तब चरण 02 कम राशि वाला किया जाएगा जितनी भी रचनाओं का चयन होगा उतनी के लिए ,

    पर उसमे वोटिंग का अधिकार कमेन्ट के माध्यम से सिर्फ़ काग़ज़दिल रचनाकार सदस्यों को या फिर जिन रचनाकारों की रचनाएँ प्रक्रिया में शामिल हुई हैं , को ही होगा इसलिए अपने कमेन्ट में उन्हें अपनी काग़ज़दिल आईडी नम्बर भी लिखना अनिवार्य होगा , जो की हर सदस्य के प्रोफाइल पर मौजूद है और एक सदस्य बस 03 रचनाओँ पर कमेंट / वोट कर सकता है
    जिन पर वह प्रथम , द्वितीय , तृतीय लिखेगा
    जिसके दिन पहले से तय हैं , जिससे कि एक ईमानदार निर्णय हो सके

    और निर्णय ना हो पाने की स्थिति में काग़ज़दिल समिति निर्णय लेगी )

    जिससे कि जो तय राशि थी उसी का वितरण हो ,
    ना कि कम रचनाएँ होने पर चरण 02 जो लागू होता कम शगुन राशि का वो ना हो
    और अधिकतर रचनाकारों को प्रक्रिया की सम्पूर्ण जानकारी नहीं है ,पर उन्होंने अपनी रचनाएँ शामिल की हैं ,उन सभी को मेल से सूचना देकर प्रक्रिया के नियमों की और उन्हें समय मिल सके जानकारी के बाद ।
    बिना जानकारी या कोशिश के ही कोई रचना प्रक्रिया से बाहर न हो , उन्हें 11 लाइक पूरे करने का अवसर मिले , बिना जानकारी के उनकी रचना प्रक्रिया से अलग हो जाना ,ईमानदार कार्य नहीं होगा।

    इसलिए यह निर्णय लिया गया है ।
    पर इसके बाद अब कोई भी तारीख नहीं बढ़ाई जाएगी।

    पहली या बाद की , शगुन प्रक्रिया की सभी राशियों का वितरण एक साथ एक बार में ही किया जाएगा ।

    शगुन प्रक्रिया के लिए निर्धारित मानकों के अनुरूप परिणाम न आने पर निर्णायक समिति द्वारा शगुन प्रक्रिया के नियम में पोस्टिंग के लिए दी गई कालावधि के अंतिम दिन तक भी परिवर्तन किया जा सकता है । निर्णायक समिति का निर्णय अंतिम और सर्वमान्य होगा।
    ( निम्न गुणवत्ता वाली रचनाएँ शगुन प्रक्रिया में शामिल नहीं की जायेगी )

    More
    Was this answer helpful ? Yes / No
    Viewed 138 Times

क्लिक करें

  • 1. Main homepage questions
Expand All | Collapse All
  • 1. ABOUT MENU - मेन्यू के बारे में
     

    ★रचनाकर , पाठक , कलमकार पाठक एवँ अन्य साहित्य/समाज सेवी
    सभी सम्माननीयों के लिये

    ★मेन्यू की संख्या तकरीबन 30 लिंक्स की होगी ,
    जिसमें तरह तरह के अलग उपयोगी फ़ीचर्स खुद में अपनी अलग अलग कैटेगरी भी लिए होंगे ।

    ★ जहाँ रचनाकार
    अपनी रचनाओँ को स्वयं प्रकाशित करने के साथ ही ,रचनाओं को अपनी प्रोफाइल के साथ संग्रहित भी कर पाएंगे।
    ★ लाइक , कॉमेंट , स्टार रेटिंग के आधार पर अपने प्रशंसकों ,पाठकों की प्रतिक्रिया भी ले सकेंगे।

    ★ प्रयास है एक अतिरिक्त अलग ही उपयोगी सुविधा आपकी प्रोफाइल के साथ आपको उपलब्ध कराई जाए, जिसकी जानकारी आपको प्रोफाइल के साथ ही देने का प्रयास है ।

    ★पाठक / कलमकार पाठक भी
    रचनाओं , कहानियों , ब्लॉग , पढ़ने के साथ ही स्वयं का भी संक्षिप्त प्रोफाइल पाएंगे ।

    ★ प्रोत्साहन के लिए ऐसी प्रतियोगताएँ जिनमें न सिर्फ रचनाकार , कलमकार पाठक अपितु पाठकों की भी सहभागिता का प्रयास किया जाएगा ।

    ★ सामाजिक मुद्दों को उठाने वाले या समाज / साहित्य सेवा में यकीन रखने वाले सम्माननीयों के लिए भी कुछ व्यवस्थाएं बनाने का प्रयास है ।

    ★ एक रचनाकारों की निर्देशिका बनाने का भी प्रयास जारी है जिसमें कि भारतीय रचनाकारों का संपर्क सूत्र एक जगह पर पाया एवँ लाया जा सके।

    ★ इनमे भाग लेने वाले रचनाकारों एवँ सहित्यसेवियों की अनगिनत गतिविधियों को संजोया जाया करेगा वार्षिक प्रिंट पत्रिका में।

    ★मेन्यू के सभी फ़ीचर्स के नाम " 7 फरवरी को " वेबसाइट के MENU में सार्वजनिक रूप से उलब्ध होंगे ।

    ★ मेन्यू के पोस्टिंग सहित सभी फ़ीचर्स एवँ पूरी वेबसाइट क्रियान्वित " 7 मार्च 2018 " से होंगी ।

    इस प्रयास में
    आप सभी की दुआओं एवँ सहयोग के अभिलाषी हैं
    समस्त
    ★ कागज़ दिल परिवार

    More
    Was this answer helpful ? Yes / No
    Viewed 222 Times
  • 2. मेन्यू में साहित्य सेवा के फ़ीचर से क्या तात्पर्य है
     
     साहित्य सेवा फ़ीचर में कुछ ऐसी व्यवस्था करने का प्रयास हम कर रहे हैं जिसमे साहित्य सेवा का सच्चा भाव रखने वाले महानुभाव अपनी निःशुल्क सेवा दे सकें एवँ पाठक एवँ अन्य रचनाकार उसका लाभ निःशुल्क ही उठा सकें।
    एवँ रचनाकारों की मदद भी की जा सके।
    More
    Was this answer helpful ? Yes / No
    Viewed 144 Times
  • 3. पाठक बनें कलमकार पाठक , सदस्यता लें
     

    कागज़ दिल आमंत्रित करता है उन सभी पाठकों को जो ,ज़रा भी लिखने का शौक रखते हैं , या लिखना चाहते हैं , या कभी कभी उनका भी दिल कुछ लिखने को बोल उठता है चाहे उन्हें कोई साहित्यिक जानकारी न सही पर उन्हें भी मौका देता है अपनी कलम से दुनिया को रूबरू करवाने का कुछ आसान विषयों पर लिखते हुए ।
    और उनका भी प्रोफ़ाइल मय परिचय एवँ फ़ोटो के LOGIN/PASSWORD प्राप्त करने के बाद अपडेट वह स्वयं कर सकेंगे।जहाँ उनकी चयनित रचनाएँ संग्रहित रहेँगी ।

    More
    Was this answer helpful ? Yes / No
    Viewed 205 Times
  • 4. पोएट्स/राइटर्स डायरेक्टरी क्या है ? "निर्देशिका"
     

    कागज़ दिल का प्रयास है विश्वभर में फैले भारतीय रचनाकारों की एक निर्देशिका " डायरेक्टरी " बनाने की चाहे एक लंबे वक्त में ही सही। जिससे रचनाकारों के संपर्क सूत्र एक जगह पर लाये जा सकें। इसमें किसी प्रकार का भेदभाव ना करते हुए बस रचनाकार होने को महत्व दिया जाएगा और जिसके लिए उनको अपनी किसी भी एक रचना अथवा एक पुस्तक के प्रकाशन के माध्यम का ज़िक्र करना अनिवार्य किया गया है ।
    भविष्य में कागज़ दिल संस्था इसे एक निःशुल्क प्रिंट पुस्तक के रूप में भी उपलब्ध करवाएगी और अपने सहयोगी N. G. O. के सहयोग से समय समय पर उन्हें SMS अथवा mail के द्वारा महत्त्वपूर्ण जानकारियाँ एवँ जो संभव हों , केंद्र सरकार की रचनाकारों के हित में कल्याणकारी योजनाओं के भी निःशुल्क उपलब्ध करवाने का भी प्रयास किया जाएगा। पर जानकारी लेना या न लेना रचनाकार की इच्छा पर निर्भर करेगा और जरूरत मंद रचनाकारों की मदद उपलब्ध संसाधनों के आधार पर भी करने का प्रयास किया जाएगा ।

    More
    Was this answer helpful ? Yes / No
    Viewed 220 Times
  • 5. रचनाकार जो रचनाएं प्रकाशित/ पोस्टिंग करने की इच्छा रखते हैं
     

    मेम्बरशिप फार्म के द्वारा सदस्यता लेने वाले सभी रचनाकारों को उपलब्ध कराए गए मेल पर मेल के द्वारा LOGIN/PASSWORD लेने की सूचना दी जाएगी। फिर भी आप साइट के इस होम पेज पर सबसे नीचे जा कर बॉक्स से संदेश भेजने के उद्देश्य का ज़िक्र करते हुए, हमें संदेश भेज सकते हैं। हम आपके संदेश को सम्मान सहित वरीयता पर रखते हुए आपकी सेवा में सूचना उपलब्ध कराएंगे। आपके इस सहयोग के लिए हम आपके आभारी होंगे।

    More
    Was this answer helpful ? Yes / No
    Viewed 257 Times
  • 6. लॉगिन/पासवर्ड एवं पोस्टिंग की तारीखें
     

    25 फरवरी 2018 से 05 मार्च 2018 के बीच LOGIN/PASSWORD का लिंक आपकी मेल आईडी पर उपलब्ध कराते हुए 7 मार्च 2018 से आपके महत्त्वपूर्ण सहयोग से पोस्टिंग एवं अन्य सभी फ़ीचर्स प्रारंभ हो जाएंगे।
    आपकी मेल आईडी पर प्राप्त लिंक के माध्यम से आप अपनी पसंद का पासवर्ड स्वयं जनरेट कर सकेंगे।

    07 मार्च 2018 शुभारंभ में आप सादर आमंत्रित हैं । कृपया इस होम पेज पर सबसे ऊपर आमंत्रण पत्र पढ़ कर उसे अपनी  व्यस्त तारिखों में स्थान देने की कृपा करें।

    More
    Was this answer helpful ? Yes / No
    Viewed 235 Times
  • 7. ये सिर्फ वेबसाइट नहीं एक मिशन लिए संगठन किस तरह से है ?
     

    सिर्फ इंटरनेट से चलने वाली वेबसाइट नहीँ , ये संगठन वास्तविकता के धरातल पर भी अपने मुख्य सहयोगी के साथ कार्य करने का प्रयास करेगी । जिनमें से कुछ साहित्य सेवी सदस्यों का परिचय साइट पर भी उपलब्ध रहेगा जो कि देश के अलग अलग राज्यों से साहित्य सेवा के लिए इस कार्य में निःशुल्क सेवा देने के लिए एकत्रित हुए हैं ।

    * कृपया ABOUT US - काग़ज़दिल के बारे में पढ़ें ***

    More
    Was this answer helpful ? Yes / No
    Viewed 147 Times
  • 8. पाठक और कलमकार पाठक में अंतर
     
    * पाठक -
    पाठक वह जो पढ़ने में रुचि रखते हैं एवँ अपने ज्ञान एवँ पसंद से रचनाकारों की हौसला अफजाई करते हुए साहित्य सेवा कर आनंदित होते हैं ।
    * कलमकार पाठक -
    पाठक पढ़ते पढ़ते कभी कभी जो मन ही मन बुदबुदा उठते हैं कि ये भी लिख सकते थे या इसके आगे की पंक्ति ये हो सकती थी । और वह पाठक जो लिखते हैं पर उनका लिखना नियमित नहीँ या लिख सकते हैं पर नही लिखते या कभी कभी किसी सामाजिक मुद्दे पर उनके भी दिल से आवाज़ आती है अपने विचार व्यक्त करने की , या अपना कोई तजुर्बा वह भी कागज़ पर उतार कर रखना चाहते हैं इत्यादि
    More
    Was this answer helpful ? Yes / No
    Viewed 154 Times
  • 9. अगर कोई पाठक निःशुल्क सदस्यता नहीं लेना चाहे ?
     
    हमारी सदस्यता निःशुल्क ही हैं। और अगर कोई सम्मानित पाठक हमारी सदस्यता नहीँ भी लेना चाहते हैं तब भी वो काग़ज़दिल वेबसाइट पर सदैव सम्मान सहित आमन्त्रित है उनका सदैव दिल से स्वागत है, वह कभी भी काग़ज़दिल  साइट पर आ जा सकते हैं और रचनाओं को पढ़ कर, रचनाकारों की हौसला अफ़ज़ाई कर के हमारे इस साहित्यिक प्रयास में सहयोग कर सकते हैं जिसके लिए हम उनके सदैव आभारी होंगे।
    अर्थात किसी भी पाठक को सदस्यता लेना अनिवार्य नहीँ है।

     

    परंतु काग़ज़ दिल वेबसाइट पर होने वाली प्रतियोगताओं में यदि पाठकों के लिए भी कोई घोषणा है तो उसका लाभ सिर्फ उन्हीं पाठकों को मिलेगा जो कि काग़ज़ दिल के सदस्य हैं अर्थात मेम्बर्सशिप सूची में उनका नाम दर्ज़ है ।
    More
    Was this answer helpful ? Yes / No
    Viewed 157 Times
  • 10. निःशुल्क सदस्यता कौन ले सकता है ?
     

    निःशुल्क सदस्यता इंटरनेट इस्तेमाल करने वाला कोई भी व्यक्ति " रचनाकार या पाठक "  या कोई भी साहित्य सेवा ,समाज सेवा का भाव रखने वाला व्यक्ति ले सकता है।

    More
    Was this answer helpful ? Yes / No
    Viewed 274 Times
  • 11. सदस्यता लेने के बाद क्या होगा ?
     
    सदस्यता लेने के बाद
        * रचनाकार -
     रचनाकार login pasword मिलने के बाद एक अलग ही सुविधा से युक्त अपना प्रोफाइल मय फ़ोटो एवँ परिचय , खुद अपडेट करने के साथ ही अपनी रचनाओं का स्वयं ही साइट पर प्रकाशन कर सकता है ,रचनाओं को एक जगह पर संरक्षित कर सकता है जहाँ अधिक से अधिक पाठक उनकी रचनाओं को पढ़ सकें और उन पर लाइक या कमेंट्स के माध्यम से अपनी प्रतिक्रिया दे कर उनकी हौसला अफ़ज़ाई कर सकें एवँ समय समय पर प्रतियोगताओं में भाग लेने के साथ , इच्छुक वरिष्ठ , बुद्धजीवी साहित्यकार कुछ साहित्य सेवा से सम्बंधित कार्यो में भी भाग ले सकें।
    * पाठक -
            पाठकों का भी पूरे सम्मान के साथ उनका संक्षिप्त प्रोफाइल अपडेट किया जाएगा उनके फ़ोटो के सहित । जिसे की समय समय पर बदला भी जा सकेगा, और उनकी इच्छा होने पर समय समय पर महत्वपूर्ण सूचनाओं से उन्हें बिना साइट पर आये भी अवगत कराने का प्रयास रहेगा । और सदस्य पाठकों में जो साहित्य सेवा में सहयोग करना चाहे उनकी भी मदद लेकर उनकी भी भागीदारी सुनिश्चित की जाएगी ।
    सदस्य पाठक साइट पर होने वाली साहित्यक प्रतियोगताओं में छोटे रूप में शामिल हो सकेंगे ।
    जबकि अन्य सम्मानीय पाठक रचनाओं को पढ़ सकेंगे ,अपनी प्रतिक्रिया दर्ज कर सकेंगे , अपने मनपसंद रचनाकार की हौसला अफ़ज़ाई भी कर सकेंगे । लेकिन प्रतियोगताओं में यदि कोई योजना पाठकों के लिए है तो उसका लाभ उन्हें नहीँ मिलेगा।
    * कलमकार पाठक -
                     कलमकार पाठक कुछ फ़ीचर्स जिनके विषय इस तरह के हैं कि वे भी लिख कर अपनी नई कलम को कदम दर कदम आगे बढ़ा सकते हैं और पोस्टिंग कर उन्हें पढ़ने को अन्य पाठकों और रचनाकरों के सामने रख सकते हैं और कुछ प्रतियोगताओं में वह भी अपनी रचनाओं के आधार पर भाग ले सकते हैं।  साइट पर मौजूद कुछ साहित्य सेवियों की दी गई साहित्य सेवा में उनके ज्ञान का लाभ उठा सकते हैं।
    More
    Was this answer helpful ? Yes / No
    Viewed 302 Times
  • 12. कलमकार पाठक शब्द सबसे पहले इस्तेमाल कब हुआ ?
     
     कलमकार पाठक शब्द या नाम 7 December 2017 को कागज़ दिल KAAGAZDIL.COM के द्वारा पाठकों को लेखन में शामिल करने के लिए इस्तेमाल किया गया है।
    कलमकार पाठक कोई पहले प्रचलित शब्द नहीँ है । ( हमारी जानकारी में )
    More
    Was this answer helpful ? Yes / No
    Viewed 95 Times
  • 13. कलमकार पाठक सदस्य कौन बन सकता है ?
     
    वह कोई भी व्यक्ति जो पढ़ने के साथ कभी कभार थोड़ा सा भी लिखने का शौक रखता हो, भले उसे कोई साहित्यिक जानकारी न सही , पर उसे लगता है कि वो लिख सकता है या लिखना चाहता है ।
    उनके लिए कुछ आसान विषय रहेंगे जहाँ वह अपनी नई कलम से लिखे पन्नों को कागज़ दिल पर सजा कर अन्य पाठकों के सामने रख सकते हैं और वरिष्ठ एवँ बुद्धजीवी साहित्यकारों के मार्गदर्शन , सलाह एवँ सहयोग से काग़ज़ दिल प्रयास करेगा कुछ फ़ीचर्स और भविष्य में लाने का जिससे कि ये नई कलम और  धारदार बन सके।
    More
    Was this answer helpful ? Yes / No
    Viewed 117 Times
  • 14. कलमकार पाठक सदस्य बनाने का उद्देश्य क्या है ?
     
    कलमकार पाठक सदस्य बनाने का एक मात्र उदेश्य साहित्य सेवा तथा साहित्य के प्रचार प्रसार के साथ अधिक से अधिक लोगों की रूह को उससे महकाने की कोशिश के अलावा जो भाव दिलों में ही घुटते रहते हैं और दम तोड़ देते हैं उन भावों को  दिल के कागज़ पर शब्दों में बदलने के साथ उन दिलों को हल्का करने का भी प्रयास है ।
    " इससे पहले घुटते एहसासों को पागल कर दो
    बेहतर है अपना दिल ही कागज़ कर दो "
           रचनाकार - काग़ज़दिल
           आवाज़ आपके दिल की
            KAAGAZDIL.COM
    More
    Was this answer helpful ? Yes / No
    Viewed 109 Times
  • 15. क्या पाठकों के लिए सदस्यता लेनी जरूरी है ?
     
    नहीँ , किसी भी पाठक के लिए कागज़ दिल की सदस्यता लेना अनिवार्य नहीँ है। यह उनकी खुशी एवं इच्छा पर निर्भर करता है । कोई भी पाठक बिना सदस्यता के भी वेबसाइट पर उपलब्ध सामग्री को पढ़ कर अपनी प्रतिक्रिया लाइक कमेन्ट से दे कर रचनाकार की हौसला अफ़ज़ाई कर सकता है।
    हमारे एवँ सभी रचनाकारों के लिए हर पाठक अतिमहत्वपूर्ण है।

     

    परंतु काग़ज़ दिल वेबसाइट पर होने वाली प्रतियोगताओं में यदि पाठकों के लिए भी कोई घोषणा है तो उसका लाभ सिर्फ उन्हीं पाठकों को मिलेगा जो कि काग़ज़ दिल के सदस्य हैं अर्थात मेम्बर्सशिप सूची में उनका नाम दर्ज़ है ।
    More
    Was this answer helpful ? Yes / No
    Viewed 108 Times

Message Us

 

सदस्यता प्रारंभ है , MEMBERSHIP पर क्लिक कर सदस्यता फार्म भरें ।

25 फरवरी से 05 मार्च 2018 के बीच पासवर्ड लिंक मेल आईडी पर उपलब्ध कराते हुए ,
07 मार्च 2018 से पोस्टिंग सहित पूरी वेबसाइट का शुभारंभ हो जाएगा ।
★ कृपया आमंत्रण पत्र पढें ★

 
 
इससे पहले घुटते एहसासों को पागल कर दो
बेहतर है अपना दिल ही कागज़ कर दो
आवाज़ आपके दिल की
KAAGAZDIL.COM