लेख , कथाएँ , डायलॉग – ( TOP POST )

लेख,कथाएँ डायलॉग शिखर पर टॉप पोस्ट

 

लेख – बलात्कारी की जात नहीं होती ।

लेख - बलात्कारी की जात नहीं होती ।
बलात्कारी मतलब बलात्कारी फिर चाहे वो कोई भी जाति धर्म का क्यों ना हो । फांसी होनी ही चाहिए । ...
Read More

काश!! तुम समझ पाते…….

काश!! तुम समझ पाते.......
सादर प्रेषित मेरी अदृश्य डायरी से एक पृष्ठ....... काश! तुम समझ पाते मेरे दिल के हालात् ! कैसे कहूँ? शब्द ...
Read More

प्रेम

प्रेम
✍️........#प्रेम....👌👌 अपने आप में पूर्ण होती परिभाषा ईश्वरीय परम पुंज कह लो या इंसानी अहसास समझो प्रेम एक प्राकृत भावना ...
Read More

सेल्फ से दूर करती –‘ सेल्फी ‘

सेल्फ से दूर करती --' सेल्फी '
सेल्फ से दूर करती--'सेल्फी' पेट की भूख हो या शोहरत की, अति हर हाल में नकारात्मकता को जन्म देती है। ...
Read More

दोहरा व्यक्तित्व

दोहरा व्यक्तित्व
कल एक पार्टी में अचानक मेरी मुलाकात मिसेज खन्ना से हुई । आकर्षक और प्रभावशाली व्यक्तित्व की स्वामिनी ,अपने चेहरे ...
Read More

खाली दिमाग़ या शैतान का घर!!!

खाली दिमाग़ या शैतान का घर!!!
Idle mind devil's workshop. जी हाँ,खाली दिमाग अर्थात 👹👿☠💀शैतान का घर और जिस हिसाब से हर जगह कंस्ट्रक्शन चल रही ...
Read More

पहला दिन पाठ शाला का

पहला दिन पाठ शाला का
*पाठ शाला में पहला दिन* पाठशाला जाने का डर, दहशत शिक्षक के हाथ छड़ी, कड़ा अनुसाशन और एक निश्चित अवधि ...
Read More

जीवन का उद्देश्य

जीवन का उद्देश्य
ऑफिस से थकिहारी निर्मला जैसे ही घर में घुसी तो देखा उसका बेटा साहिल मोबाईल से चिपका हुआ है । ...
Read More

बुक फेयर……!

बुक फेयर......!
पुस्तक मेले महज़ यादें.......! विद्यालयों में पुस्तक मेले के बड़े पैमाने पर आयोजन हुआ करते थे।आज समय इतना फ़ास्ट हो गया है ...
Read More

गुरु वंदना

गुरु वंदना
3 महर्षि वेदव्यास का जन्म आषाढ़ पूर्णिमा को लगभग 3000 ईसा पूर्व में हुआ था। उनके सम्मान में ही हर ...
Read More
Loading...