लेख , कथाएँ , डायलॉग – ( TOP POST )

लेख,कथाएँ डायलॉग शिखर पर टॉप पोस्ट

 

लेख – बलात्कारी की जात नहीं होती ।

लेख - बलात्कारी की जात नहीं होती ।
बलात्कारी मतलब बलात्कारी फिर चाहे वो कोई भी जाति धर्म का क्यों ना हो । फांसी होनी ही चाहिए । ...
Read More

काश!! तुम समझ पाते…….

काश!! तुम समझ पाते.......
सादर प्रेषित मेरी अदृश्य डायरी से एक पृष्ठ....... काश! तुम समझ पाते मेरे दिल के हालात् ! कैसे कहूँ? शब्द ...
Read More

सेल्फ से दूर करती –‘ सेल्फी ‘

सेल्फ से दूर करती --' सेल्फी '
सेल्फ से दूर करती--'सेल्फी' पेट की भूख हो या शोहरत की, अति हर हाल में नकारात्मकता को जन्म देती है। ...
Read More

खाली दिमाग़ या शैतान का घर!!!

खाली दिमाग़ या शैतान का घर!!!
Idle mind devil's workshop. जी हाँ,खाली दिमाग अर्थात 👹👿☠💀शैतान का घर और जिस हिसाब से हर जगह कंस्ट्रक्शन चल रही ...
Read More

पहला दिन पाठ शाला का

पहला दिन पाठ शाला का
*पाठ शाला में पहला दिन* पाठशाला जाने का डर, दहशत शिक्षक के हाथ छड़ी, कड़ा अनुसाशन और एक निश्चित अवधि ...
Read More

जीवन का उद्देश्य

जीवन का उद्देश्य
ऑफिस से थकिहारी निर्मला जैसे ही घर में घुसी तो देखा उसका बेटा साहिल मोबाईल से चिपका हुआ है । ...
Read More

दोहरा व्यक्तित्व

दोहरा व्यक्तित्व
कल एक पार्टी में अचानक मेरी मुलाकात मिसेज खन्ना से हुई । आकर्षक और प्रभावशाली व्यक्तित्व की स्वामिनी ,अपने चेहरे ...
Read More

बुक फेयर……!

बुक फेयर......!
पुस्तक मेले महज़ यादें.......! विद्यालयों में पुस्तक मेले के बड़े पैमाने पर आयोजन हुआ करते थे।आज समय इतना फ़ास्ट हो गया है ...
Read More

यादों के पृष्ठ

यादों के पृष्ठ
यादों के पृष्ठ……….एक संस्मरण…… दस पटाख़े! पिछले महीने की ही बात है मेरी खास मित्र के होमटाउन जाने का हमारा ...
Read More

जिन्दगी पर फिल्मों का प्रभाव

जिन्दगी पर फिल्मों का प्रभाव
जिन्दगी पर फिल्मों का प्रभाव जिस तरह के वातावरण में हम रहते है उसका हमारे जीवन पर बहुत गहरा प्रभाव ...
Read More
Loading...