Close
Sukrit ranjan Ranjan azar
22
2
0 Followers
691
11-01-2018
रचनाकार
Docter
Po-saraimeer Dist-Azamgarh (U.P) Pin-276305
शब्द कुछ यूँ जुबान से निकला तीर जैसे कमान से निकला भाई भाई का हो गया दुश्मन जाने क्या दरमियान से निकला
Sukrit ranjan
Ranjan azar
6