Close
आकर्षण दुबे
150
9
0 Followers
754
03-02-2018
रचनाकार
कुछ नहीं
जिला- इलाहाबाद राज्य- उत्तर प्रदेश देश- भारत
कभी-कभी हंसते हुए रोना आ जाता है, कभी-कभी रोते हुए हँसना आ जाता है.. करते नही शिकायत जो कभी भी हमसे, कुछ ऐसे भी रिश्तों का, अंत आ जाता है.. ――――――आकर्षण दुबे "अंजान"
नमस्कार प्रिय मित्रों 🙏 आपका मेरी प्रोफाइल में तहे दिल से स्वागत है! मैं हिंदी मंचो का कवि हूँ और आप यहां मेरे द्वारा लिखी गयी रचना पढ़ सकते हैं।
आकर्षण
दुबे
33


कविता (अन्य) (1) ग़ज़ल (दर्द) (2) ग़ज़ल (अन्य) (1) क़ता (दर्द) (1) 9