Close
कृष्ण शरण पटेल
964
121
1 Followers
940
11-03-2018
रचनाकार
MLM BUSINESS ( ALTOS )
JAGDALPUR Distt. -- BASTAR ( C.G. )
"जियो और जीनो दो"
01.पूरा नाम --- कृष्ण शरण पटेल 02. पूरा पता --- जगदलपुर जिला -- बस्तर ( छत्तीसगढ ) पिन -- 494001 मोबाइल नं. 9425595724 , 8770319204 ई मेल -- Krishnasharanpatel6271 @gmail.com 03. पेशा --- नेटवर्किंग लीडर … ALTOS कंपनी में "डायमंड" पिन एचीवर 04. शिक्षा --- एम.ए. ( हिन्दी साहित्य ) 05. स्वभाव --- सरल , मिलनसार और हँसमुख स्वभाव… ज़्यादा से ज़्यादा मित्र बनाने में यक़ीन 06. रुचियाँ --- पढने और लिखने का काफ़ी शौक़ है । संगीत और चित्रकला में भी मन लगता है… शौक़िया तौर पर लगभग 50 पेंटिंग्स बना चुके हैं । लिखने का शौक़ कालेज़ के दिनों परवाना चढा । कविता और गीत का लेखन कभी-कभी होता है… कभी-कभी लघु कथा भी लिख लेते हैं... मग़र अधिकाँश "ग़ज़लें" लिखने में आनंद आता है । प्रेम , प्रेरणादायक और वर्तमान परिदृश्य पर लिखना ज़्यादा पसंद है । अब तक कुल 474 रचनाओं का सृजन कर चुके हैं । लेखन के अलावा खेलों में क्रिकेट और बैडमिंटन बहुत पसंद है । बागवानी का बडा शौक़ है । प्रकृति से बेहद प्यार है और हर दर्शनीय स्थलों में विचरण करना चाहते हैं । 07. उपलब्धि -- ( 1 ) पत्रिकाओं में रचनाएँ प्रकाशित ( 2 ) आकाशवाणी जगदलपुर में युववाणी कार्यक्रम का संचालन लगभग 10 वर्षों तक ( 3 ) आकाशवाणी जगदलपुर में कविता पाठ ( 4 ) आकाशवाणी जगदलपुर में युवा कवि गोष्ठी का संचालन ( 5 ) विभिन्न कवि गोष्ठियों में प्रतिभागिता ( 6 ) साझा काव्य संकलन "काव्य अमृत" में 3 रचनाएं प्रकाशित ( 7 ) साझा काव्य संकलन "खनक आखर की" में 6 रचनाएँ प्रकाशित ( 8 ) साझा काव्य संकलन "कश्ती में चाँद" में 6 रचनाएँ प्रकाशित ( 9 ) साझा काव्य संकलन "गुलनार" में 6 रचनाएँ प्रकाशित ( 10 ) साझा प्रेम काव्य संकलन "मृगनयना" में 2 रचनाएँ प्रकाशित ( 11) राष्ट्रभाषा हिन्दी प्रचार-प्रसार योजना के अंतर्गत जे एम डी पब्लिकेशन , दिल्ली के द्वारा "अमृत सम्मान" से सम्मानित ( 12 )हिन्दी साहित्य में विशेष योगदान हेतु के.जी. साहित्य , नालेज ग्रुप पब्लिकेशन , मेरठ के द्वारा "साहित्य सारथी" सम्मान से सम्मानित ( 13 ) श्री सत्यम प्रकाशन , झूंझनू ( राजस्थान ) द्वारा "काव्य गौरव" और "काव्य सागर" सम्मान से सम्मानित 08. ख़्वाहिश --- ख़ुद की कम से कम 10 पुस्तकें "ग़ज़ल संग्रह" के रूप में हिन्दुस्तान को देने की तमन्ना है…।
कृष्ण शरण पटेल
158